khabar7 logo
uttar-pradesh

वाराणसी में DM का दुकानदारों को 15 दिन का अल्टीमेंटम, लगवा लें वैक्सीन वरना नहीं खोल पाएंगे दूकान

by Khabar7 - 06-Jun-2021 | 17:27:57
वाराणसी में DM का दुकानदारों को 15 दिन का अल्टीमेंटम, लगवा लें वैक्सीन वरना नहीं खोल पाएंगे दूकान

 06 जून 2021 

हाईलाइट्स :-

वैक्सीनेशन न कराने पर सरकारी कर्मचारियों का रुकेगा वेतन !

चालकों को वैक्सीनेशन के लिए डीएम ने दिया 15 दिन समय !

वाराणसी जिले में भी कोरोना कर्फ्यू हटा दिया गया है !

15 दिन के बाद कुछ दुकानदार नहीं खोल सकेंगे दुकान !

 वाराणसी !!

वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बाक्सिनेशन को बढ़ावा देने का अनोखा तरीका खोज निकाला है यह तरीका कुछ सख्ती वाला तो जरूर है लकिन है कारगर | जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने अब यह निर्णय लिया गया है कि,वही लोग अपनी दुकान पर आ सकेंगे जो वैक्सीनेट हो चुके रहेंगे|

मीडिया को बताया कि, वाराणसी में वैक्सीनेशन की गति को तेज करने के मकसद से सभी समूहों को जागरुक किया जा रहा है और यह प्रयास तीन-चार महीनों से जारी है. लॉकडाउन में भी सभी से वैक्सीन लगाने की अपील की गई थी| इसलिए सभी व्यापारियों को यह सलाह दी गई है कि वे वैक्सीनेशन कराकर तैयार रहें|

15 दिन बाद वैक्सीनेट होने की स्थिति में ही दुकान खोलने दी जाएगी !

डीएम ने बताया कि 18-45 साल तक के व्यापारियों को वैक्सीनेशन के लिए 15 दिन का समय दिया गया है. 15 दिन बाद वैक्सीनेट होने की स्थिति में ही उन्हें दुकान खोलने दी जाएगी. वैक्सीनेट होने तक उनको दुकान बंद रखने की सलाह दी जाएगी. व्यापारियों को बता भी दिया गया है कि वे स्थान का चयन कर लें. स्वास्थ्य विभाग की टीम उनकी ओर से चिह्नित स्थान पर जाकर वैक्सीन लगा देगी और वर्क साइट पर भी उनका वैक्सीनेशन हो जाएगा.

रोडवेज बस ड्राइवर ऑटोरिक्शा चालक की नियमित जांच !

वाराणसी के जिलाधिकारी ने कहा कि जो लोग हाई रिस्क में हैं, उनकी नियमित जांच कराई जा रही है. इनमें ज्यादातर ड्राइवर हैं. इसमें रोडवेज बस के साथ ही ऑटो रिक्शा चालक भी शामिल हैं. इनको भी वैक्सीनेशन के लिए 15 दिन का वक्त दिया गया है. उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के कर्मचारियों को जून की सैलरी तभी जारी करने के लिए कहा गया है, जब उनको वैक्सीन की कम से कम एक डोज लग चुकी हो.

डीएम ने कहा कि ऐसा इसलिए क्योंकि देखा गया है कि, मौत की स्थिति में ये आक्रोश जाहिर करते हैं और प्रिवेंटिव एक्शन के समय अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाते हैं. इसलिए सभी सरकारी कर्मचारियों को बैठकों के जरिए भी बताया जा चुका है कि वे वर्कसाइट पर ही वैक्सीन लगवा सकते हैं. केंद्र सरकार के कर्मचारियों को भी जून में ही वैक्सीन लगवाने की सलाह दी गई है.

Share: