khabar7 logo
haryana-punjab

हरियाणा : पूर्व CM हुड्डा ने पेश किया अविश्‍वास प्रस्‍ताव, सीक्रेट वोटिंग की मांग !!

by Khabar7 - 10-Mar-2021 | 13:35:58
हरियाणा : पूर्व CM हुड्डा ने पेश किया अविश्‍वास प्रस्‍ताव, सीक्रेट वोटिंग की मांग !!

10 मार्च 2021,

हाईलाइट्स -

हरियाणा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा जारी !

खट्टर सरकार के सामने बहुमत साबित करने की चुनौती !

हरियाणा !!

हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार आज विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव का सामना कर रही है. बुधवार सुबह 11 बजे सदन में प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हुई, जो दो घंटे तक जारी रहेगी. सदन में चर्चा के बाद प्रस्ताव पर मतदान भी होगा|

सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस विधायक जगबीर मलिक ने कहा कि भाजपा ने किसानों को कानून समझाने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो पाई. अब लोग ही भाजपा को पाठ सिखाएंगे, भाजपा को किसानों से माफी मांगनी चाहिए. भूपेंद्र हुड्डा ने सदन में भाजपा विधायकों को चुनौती दी कि वो अपने विधानसभा क्षेत्र में जाकर दिखाएं, जनता का क्या रुख रहता है. भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने सदन में मांग की है कि अविश्वास प्रस्ताव के लिए सीक्रेट वोटिंग होनी चाहिए|

जनता में अपना विश्वास खो चुकी है सरकार !

विधानसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरू हो गई है. कांग्रेस नेता भूपेंद्र हुड्डा ने यहां कहा कि सरकार जनता में अपना विश्वास खो चुकी है, आज CM का हेलिकॉप्टर कहीं लैंड नहीं हो पा रहा है ना ही वो कोई रैली कर पा रहे हैं. भाजपा लगातार किसान आंदोलन को लेकर गलत बयानबाजी करती रही है, मंत्री किसानों को आतंकी-खालिस्तानी कह रहे हैं|

विधानसभा में अविश्वास मत प्रस्ताव आने से पहले मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर ने कहा है कि उनके पास पूरा बहुमत है और कांग्रेस की कोई कोशिश सफल नहीं होगी. वहीं, दुष्यंत चौटाला का कहना है कि सरकार जिस बहुमत के साथ बनी थी, उसी के आधार पर अपना कार्यकाल पूरी करेगी|

भाजपा ने सभी विधायकों को सदन में रहने को कहा !

विधानसभा में अविश्वास मत प्रस्ताव पर चर्चा से पहले भाजपा ने अपने सभी विधायकों को सदन में रहने को कहा है, ताकि वोटिंग के वक्त कोई दिक्कत पैदा ना हो. वहीं, सरकार में भाजपा के साथ खड़ी JJP में अलग ही सुर सुनाई पड़ते दिख रहे हैं|

JJP के विधायक देवेंद्र बबली का एक बयान सामने आया है, जिसमें वो कह रहे हैं कि JJP को सरकार से हट जाना चाहिए, क्योंकि अब किसान और गांववाले उनके खिलाफ खुलकर सामने आए गए हैं, ऐसे में पार्टी को बहुत दिक्कत का सामना करना पड़ेगा. यही कारण है कि अविश्वास मत में JJP का क्या रुख होगा, इसपर हर किसी की नज़र है|

हरियाणा विधानसभा का नंबर गेम !

हरियाणा में कुल 90 सीटें हैं, लेकिन मौजूदा वक्त में 88 विधायक हैं. बहुमत के लिए 45 का आंकड़ा चाहिए, अविश्वास मत ला रही कांग्रेस के पास कुल 30 विधायक हैं. वहीं, सत्ता में बैठी भाजपा के पास 40, सहयोगी दल JJP के पास 10 और 5 निर्दलीय विधायकों का साथ है. यानी भाजपा का दावा है कि सरकार के पास 55 विधायकों का समर्थन है|

अगर इस हिसाब से वोटिंग होती है, तो भाजपा को कोई दिक्कत नहीं होगी. लेकिन, बीते दिनों किसान आंदोलन के चलते JJP विधायकों का बयान काफी अलग आया है, जो विधानसभा में वोटिंग के वक्त कुछ असर दिखा सकता है|

Share: