khabar7 logo
uttar-pradesh

नोएडा : पिता को बचाने के लिए कोरोना संक्रमित बेटे ने खाली किया अपना ICU बेड !!

by Khabar7 - 02-May-2021 | 14:37:47
नोएडा : पिता को बचाने के लिए कोरोना संक्रमित बेटे ने खाली किया अपना ICU बेड !!

30 अप्रैल 2021,

हाईलाइट्स -

बेटे ने पिता के लिए खाली किया अपना ICU बेड !

बेटा कोविड पॉजिटिव, पिता भी हुए शिकार !

कही नहीं मिला बेड तो अपना कर दिया खाली !

नोएडा !!

कोरोना ने पूरे देश को ऐसे दिन दिखा दिए हैं जहां पर पूरा परिवार ही इस वायरस से जंग लड़ रहा है, अस्पतालों में बेड की तलाश कर रहा है और ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए घंटों लाइन में खड़ा हो रहा है. इस मुश्किल समय में परिवार ही अपनों की सबसे बड़ी ताकत है. नोएडा से भी एक ऐसी खबर सामने आई है जिसने ना सिर्फ इस बात को सही साबित कर दिया है बल्कि परिवार के महत्व को भी बता दिया है|

मयंक के पिता भी कोविड पॉजिटिव !

ग्रेटर नोएडा के मयंक प्रताप सिंह कोरोना पॉजिटिव हैं और उनका अस्पताल में इलाज चल रहा था. लेकिन जब खबर मिली कि पिता की तबीयत बिगड़ी है, तो बेटे ने अपना ICU बेड उनके लिए खाली कर दिया. अब मयंक खुद घर पर अपना इलाज करवा रहे हैं, वहीं उनके पिता अस्पताल में भर्ती हैं. जानकारी मिली है कि मयंक के पिता भी कोविड पॉजिटिव हैं और उन्हें अस्पताल में एडमित करना जरूरी हो गया था. अब उस मुश्किल समय में पिता को सहारा उस बेटे से मिल गया जो खुद कोविड से जंग लड़ रहा है|

बताया गया है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट के पंचशील ग्रीन सोसाइटी के मयंक प्रताप सिंह का कोविड अस्पताल में इलाज चल रहा था. मयंक की तबीयत तो आठ अप्रैल से ही खराब चल रही थी, लेकिन बाद में उनकी ऑक्सीजन लेवल भी कम हो गई और उनका चेस्ट इनफेक्शन भी बढ़ गया. इसी वजह से मयंक को अस्पताल में एडमिट करवाया गया था. अब मयंक की सेहत में सुधार हो ही रहा था कि उनके पिता की तबीयत भी बिगड़ गई. जब बेटे को इस बात की जानकारी मिली तो उन्होंने अस्पताल को बकायदा एक दावा पत्र दिया जहां पर कहा गया कि अगर मुझे कुछ हुआ तो उसका जिम्मेदार मैं स्वयं होऊंगा|

बेड मिलना बड़ी चुनौती !

अब जब एक बेटे की तरफ से इतना बड़ा आश्वासन दे दिया गया हो, ऐसे में अस्पताल ने भी मयंक को डिस्चार्ज कर दिया और उनकी जगह उनके पिता को एडमिट किया. अब फिलहाल पिता उदय प्रताप ICU में भर्ती हैं और बेटे मयंक का घर पर ही इलाज जारी है. वैसे इस एक घटना के बाद ये फिर साबित हो गया है कि कोरोना काल में अस्पतालों में बेड मिलना बड़ी चुनौती है. मयंक खुद भी अपने पिता के लिए किसी अस्पताल में बेड की तलाश कर रहे थे,लेकिन जब कहीं भी इंतजाम नहीं हो पाया, उसके बाद ही उन्होंने अपना ICU बेड उनके लिए खाली कर दिया|

Share: