khabar7 logo
orrisa

फैनी से मची तबाही का जायजा लेने ओडिशा पहुंचे PM, 1000 करोड़ की मदद का ऐलान !!

by Khabar7 - 06-May-2019 | 12:08:45
फैनी से मची तबाही का जायजा लेने ओडिशा पहुंचे PM, 1000 करोड़ की मदद का ऐलान !!

06 मई 2019,  

नई दिल्ली !!

ओडिशा में दो दिन पहले आए चक्रवाती तूफान फैनी के बाद आज यानी सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हालात का जायजा लेने भुवनेश्वर पहुंचे. इस दौरान CM नवीन पटनायक ने उनका स्वागत किया. PM मोदी ने हवाई सर्वेक्षण करके नुकसान का आकलन किया. उन्होंने तूफान से तबाही से मदद के लिए एक हजार करोड़ रुपये की तत्काल मदद का ऐलान किया है.

इस दौरान मीडिया से बात करते हुए PM मोदी ने कहा कि तूफान के दौरान नवीन पटनायकजी ने अच्छा काम किया है. तूफान के दौरान ओडिशा के लोगों ने समझदारी दिखाई. इस कारण कम जनहानि हुई. मैंने नुकसान का आकलन किया. केंद्र सरकार हर कदम पर ओडिशा के साथ है. 1000 करोड़ की तत्काल मदद का ऐलान किया जा रहा है.
 
24 घंटे में 13.41 लाख लोग निकाले गए, 1.08 करोड़ प्रभावित !

अधिकारी ने कहा कि चक्रवात से प्रभावित लोगों की संख्या भी कम से कम 11 जिलों के 14,835 गांवों में लगभग 1.08 करोड़ हो गई है. उन्होंने कहा कि आपदा से 24 घंटे पहले 13.41 लाख से अधिक लोगों को निकाला गया था. CM नवीन पटनायक ने आपदा से प्रभावित लोगों के लिए राहत पैकेज की घोषणा करते हुए कहा कि पुरी और बेहद गंभीर रूप से प्रभावित खुर्दा के कुछ हिस्सों में सभी परिवारों को 50 किलोग्राम चावल, 2,000 रुपये नकद और पॉलीथीन शीट मिलेंगी अगर वे खाद्य सुरक्षा कानून (एफएसए) के तहत आते होंगे.

खुर्दा जिले के शेष हिस्सों के लिए जो गंभीर रूप से प्रभावित हुए FSA परिवारों को एक महीने का चावल, 1,000 रुपये नकद एवं पॉलीथीन शीट मिलेगी. पटनायक ने कहा कि कटक, केंद्रपाड़ा एवं जगतसिंहपुर के मध्यम रूपसे प्रभावित जिलों के लोगों को एक महीने का चावल का कोटा और 500 रुपये नकद दिया जाएगा.

कई इलाकों में बहाल हुई जल आपूर्ति !

साथ ही CM ने पूर्ण क्षतिग्रस्त घरों के लिए 95,100 रुपये की मदद आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त घरों के लिए 52,000 रुपये और हल्का-फुल्का नुकसान झेलने वाले घरों के लिए 3,200 रुपये की आर्थिक मदद की घोषणा भी की. नवीन पटनायक ने दावा किया कि सबसे अधिक प्रभावित पुरी नगर के 70 फीसदी इलाकों और राजधानी भुवनेश्वर के 40 फीसदी स्थानों में जल आपूर्ति बहाल हो गई है.

CM नवीन पटनायक ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि भुवनेश्वर में जल्द ही और पुरी नगर के कम से कम 90 फीसदी इलाकों में पानी की आपूर्ति बहाल कर ली जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार ने अगले 15 दिनों के लिए बना हुआ खाना नि:शुल्क उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है. हम मिशन स्तर पर पौधा रोपण कार्यक्रम चलाएंगे.

पुरी में सबसे अधिक 21 मौतें !

हालांकि मुख्यमंत्री ने प्रभावित इलाकों में बिजली आपूर्ति बहाल करने के लिए जारी कार्य की स्थिति पर कोई ब्यौरा नहीं दिया. राज्य के मुख्य सचिव ए पी पाढ़ी के मुताबिक 34 में से 21 मौतें पुरी में हुईं जहां तूफान शुक्रवार को पहुंचा था. राज्य सरकार के अधिकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्थिति का जायजा लेने के लिए ओडिशा का दौरा कर सकते हैं.

पूर्व तटीय रेलवे ने हावड़ा-चेन्नई मार्ग पर रविवार को आंशिक रूप से परिचालन शुरू कर दिया. चक्रवात के कारण पूरे तटीय ओडिशा के 11 जिले बालेश्वर, भद्रक, कटक, ढेंकानाल, गंजाम, जगतसिंहपुर, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, खुर्दा, मयूरभंज और पुरी प्रभावित हुए.

Share: