khabar7 logo
haryana-punjab

पंजाब : लुधियाना में फैक्टरी की इमारत ढही, 3 लोगों की मौत, कई फंसे !!

by Khabar7 - 05-Apr-2021 | 17:11:33
पंजाब : लुधियाना में फैक्टरी की इमारत ढही, 3 लोगों की मौत, कई फंसे !!

05 अप्रैल 2021,

हाईलाइट्स -

सुबह 4 बजे चल रहा था लेंटर को ऊपर उठाने का काम !

लगभग चालीस मजदूर कर रहे थे काम !

NDRF, SDRF, पुलिस और दमकल विभाग की टीमें तैनात !

लुधियाना !!

पंजाब के लुधियाना में सोमवार को बाबा मुकंद सिंह नगर में एक फैक्टरी जमींदोज हो गई। इस हादसे में तीन मजदूरों की मौत हो गई है, जबकि लगभग पांच मजदूरों के अंदर फंसे होने का अंदेशा जताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार, इमारत की दूसरी मंजिल के लेंटर को जैक लगाकर उठाया जा रहा था। 

फंसे मजदूरों को बाहर निकालने के लिए NDRF, SDRF सहित दमकल विभाग की टीमें जुटी हुई हैं। वह मलबा हटाकर अंदर फंसे मजदूरों को निकालने का प्रयास कर रहे हैं। वहीं हादसे के बाद फिर नगर निगम पर सवालिया निशान लग गया है कि आखिरकार पुरानी इमारत को दूसरी मंजिल की छत को जैक से उठाने की अनुमति कैसे दी गई। अगर निगम से कोई परमिशन नहीं ली गई है, तो फिर निगम अफसरों ने समय रहते कार्रवाई क्यों नहीं की। वहीं पुलिस ने फैक्टरी के मालिक और ठेकेदार पर मामला दर्ज कर लिया है।

इमारत में फंसे कुछ मजदूरों को निकाला !

जानकारी के अनुसार मुकंद सिंह नगर में जसमेल सिंह एंड संस की पुरानी फैक्टरी है। बीते कुछ दिन से फैक्टरी की दूसरी मंजिल के लेंटर को ऊपर उठाने का काम चल रहा था। सोमवार सुबह लगभग चार बजे 40 मजदूर काम में जुटे थे। सारा काम पूरा हो चुका था। सुबह दस बजे जैक हटाया गया तो फैक्टरी की पहली मंजिल की छत नीचे गिर गई। इसके साथ ही इमारत ढह गई। एक दम मिट्टी का गुबार उठा। आसपास के लोग तुरंत घटनास्थल की तरफ भागे और किसी तरह इमारत में फंसे कुछ मजदूरों को वहां से निकाल लिया। 

घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल, डीसी वरिंदर शर्मा सहित सभी अधिकारी मौके पर पहुंचे। हालात को देखते हुए NDRF और SDRF टीम को तुरंत मौके पर बुला लिया गया है। अभी तक 35 मजदूरों को सुरक्षित निकाला गया है। सरकारी अधिकारियों के अनुसार, पांच मजदूर अंदर फंसे हुए हैं। घायलों को सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां एक मजदूर की मौत हो गई। दो गंभीर रुप से घायल मजदूरों को निजी अस्पातल में भर्ती कराया गया है। बाद में इनकी भी मौत हो गई। इस बिल्डिंग के साथ दो अन्य इमारतों को फिलहाल अनसेफ घोषित कर दिया गया है।

कार्रवाई पूरी होने के बाद होगी मामले की जांच !

डीसी वरिन्दर शर्मा ने बताया कि फिलहाल अंदाजा है कि इस इमारत में चालीस मजदूर काम कर रहे थे, प्रशासन की तरफ से अभी तक 35 मजदूरों को निकाला जा चुका है। आशंका है कि पांच मजदूर अभी अंदर फंसे है, जिन्हें NDRF की टीमें बाहर निकालने की कोशिश कर रही है। अभी हमारा पहला फोकस फंसे लोगों को बाहर निकालना है। यह कार्रवाई पूरी होने के बाद मामले की जांच होगी। इसमें जो भी आरोपी होगी, उसके खिलाफ कार्रवाई जरूर होगी।

पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल ने कहा कि हमें चालीस मजदूरों के काम करने की सूचना है, इसमें 35 को निकाला जा चुका है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अंदर लगभग पांच मजदूरों के फंसे होने की खबर है। उन्हें बचाने का काम चल रहा है। यह काम पूरा होने पर पूरे मामले की जांच होगी, आरोपियों के खिलाफ उचित कार्रवाई होगी।

Share: