khabar7 logo
uttar-pradesh

कानपुर : टेंपो और बस में भिड़ंत...कई परिवार तबाह, कहीं तीन तो कहीं दो सगे भाइयों की मौत !!

by Khabar7 - 09-Jun-2021 | 11:44:06
कानपुर : टेंपो और बस में भिड़ंत...कई परिवार तबाह, कहीं तीन तो कहीं दो सगे भाइयों की मौत !!

09 जून 2021,

हाईलाइट्स -

17 लोगों की मौत से लालेपुर और ईश्वरीगंज गांव में मातम !

सभी लोग हर दिन एक साथ काम पर जाते थे : ग्रामीण !

एक घायल की हालत नाजुक, कोरोना पॉजिटिव भी !

कानपुर !!

कानपुर के सचेंडी के किसान नगर में मंगलवार रात को डबल डेकर बस और टेंपो की टक्कर में हुई 17 लोगों की मौत से लालेपुर और ईश्वरीगंज गांव में मातम पसर गया। चारों तरफ चीत्कार मची रही। दरअसल, मरने वालों में 12 मजदूर लालेपुर और पांच ईश्वरीगंज के रहने वाले हैं। एक परिवार के तीन भाइयों तो दूसरे परिवार के दो भाइयों की मौत हो गई। ग्रामीणों के मुताबिक सभी लोग हर दिन एक साथ काम पर जाते थे और एक साथ लौटते थे। ड्यूटी का समय एक होने की वजह से सभी एक ही गाड़ी से आते-जाते थे। मंगलवार को सभी लोग करीब साढ़े सात बजे टेंपो से फैक्टरी के लिए रवाना हुए। कुछ ही देर बाद हादसा हो गया। हादसे में लालेपुर गांव निवासी तीन सगे भाइयों शिवभजन (22), राम मिलन (24) और लवलेश (20) की मौत हुई है। इसी गांव के त्रिभुवन यादव के बेटों धर्मराज यादव और गौरव ने भी अपनी जान गंवाई है।
 
दोनों परिवारों के परिजन हादसे की खबर सुनकर बदहवास हो गए। इनका पूरा का पूरा परिवार उजड़ गया। परिजन हैलट पहुंचे लेकिन उनके जुबान से बोल नहीं निकल रहे थे। उनको ढांढस बंधाने वाले भी रो पडे़। 

नवंबर में होनी थी शादी !

हादसे में मरने वाले राम मिलन के परिजनों ने बताया कि नवंबर में उसकी शादी होनी थी। पूरा परिवार शादी की तैयारियों में जुटा था। उसके दो भाइयों की भी मौत हो गई है। पूरे परिवार का रो-रोकर बुरा हाल है। हैलट पहुंचे बड़े भाई अजय और मां गीता को यकीन नहीं हो रहा है कि एक साथ तीनों बेटे जीवन भर के लिए साथ छोड़कर चले गए।
 
हैलट में घायलों को भर्ती कराया गया है। इसमें 23 वर्षीय अंकित की हालत नाजुक बनी हुई। उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इलाज जारी है। डॉक्टरों के मुताबिक अगले 24 घंटे उसके लिए महत्वपूर्ण हैं। अन्य घायलों की हालत इससे बेहतर है। पुलिस, प्रशासन और मेडिकल विभाग के अफसर भी हैलट में मौजूद रहे। उन्होंने दावा किया कि घायलों के इलाज में किसी तरह की कोई कमी नहीं होगी।

हादसे में इनकी जान गई -

रजनीश (20), लालेपुर सचेंडी
शिवभजन(22) लालेपुर सचेंडी
राम मिलन(24) लालेपुर सचेंडी  
लवलेश (20) लालेपुर सचेंडी 
गोलू परिहार (20), लालेपुर सचेंडी 
धर्मराज( 22)  लालेपुर सचेंडी 
करनसिंह (35) लालेपुर सचेंडी
गौरव(22) लालेपुर सचेंडी
नन्हू पासवान (22), लालेपुर सचेंडी 
सुभाष पासी (20), लालेपुर सचेंडी 
उदय नारायण यादव(60) लालेपुर सचेंडी
ज्ञानेंद्र सिंह परिहार(50) लालेपुर सचेंडी
धनीराम कुरील(55) ईश्वरीगंज सचेंडी 
बलबीर यादव (50) ईश्वरीगंज, सचेंडी
सुरेंद्र यादव (45) ईश्वरीगंज सचेंडी 
अन्नू सिंह (18) ईश्वरीगंज सचेंडी 
मान सिंह (32) सकतपुर सचेंडी, टेंपो चालक

हाईवे पर उल्टी दिशा से कैसे आया टेंपो ?

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हाईवे के कारण बस काफी स्पीड में थी। चालक को जरा भी इल्म नहीं था कि हाईवे पर कोई उल्टी दिशा से आ जाएगा। यही वजह रही कि जब टेंपो सामने आया तो बचने का कोई मौका नहीं मिला। दोनों वाहन आमने-सामने से टकरा गए।

कानपुर में हुए भीषण सड़क हादसे में पुलिस की शुरुआती जांच में बड़ा खुलासा हुआ है। डबल डेकर बस के दोनों चालकों ने शराब पी रखी थी। एक साथ ही दोनों ने फजलगंज में एक ठेके से शराब खरीदकर पी थी। हादसा होने से कुछ समय पहले आरटीओ की टीम ने बस की जांच भी की थी लेकिन हरी झंडी दे दी थी। यहां से जैसे ही बस रवाना हुई कुछ दूर पर हादसा हो गया। मामले में जांच बैठाई गई है। बस चालकों व अज्ञात पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। टेंपो में सवार लोगों पर कोविड प्रोटोकॉल उल्लंघन का केस हुआ है। हादसे के पीछे आरटीओ की बड़ी लापरवाही रही है। जब अर्मापुर में आरटीओ ने बस की चेकिंग की थी अगर वहीं वो पता कर लेते कि चालकों ने शराब पी है तो हादसा न होता। सवाल है कि आखिर वो चेकिंग किस चीज की कर रहे थे।
 
एडीजी भानु भास्कर ने बताया कि मामले में कानपुर आउटर और कमिश्नरी के अफसर भी जांच टीम में रहेंगे। फिलहाल सीओ सदर, एसडीएम और आरटीओ की एक संयुक्त टीम बनाई गई है। जल्द से जल्द जांच टीम अपनी रिपोर्ट सौंपेगी। उसी आाधर पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। 
 
बस चालक फरार, मालिक से किया संपर्क !

बस के दोनों चालक घटना के बाद फरार हो गए हैं। पुलिस की जांच में पता चला कि बस मालिक अनिल कुशवाहा ग्वालियर मध्य प्रदेश का रहने वाला है। पुलिस ने तत्काल उससे संपर्क कर ड्राइवरों के बारे में जानकारी ली है। यही नहीं मालिक को भी कानपुर बुलाया है। एडीजी ने बताया कि बस चालकों की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित की गई है। घटनास्थल की जांच फोरेंसिक टीम व टेक्निकल टीम ने भी किया है। जो साक्ष्य मिले हैं उनको एफआईआर की विवेचना में शामिल किया जाएगा।

Share: