khabar7 logo
uttra-khand

दूसरी लहर के दौरान उत्तराखंड के लगभग 2400 पुलिस कांस्टेबल कोरोना पॉजिटिव, 1800 को लगी थी दोनों डोज !!

by Khabar7 - 03-Jun-2021 | 11:19:50
 दूसरी लहर के दौरान उत्तराखंड के लगभग 2400 पुलिस कांस्टेबल कोरोना पॉजिटिव, 1800 को लगी थी दोनों डोज !!

03 जून 2021,

हाईलाइट्स :-

  वैक्सिंग वैक्सीन निर्माताओं की गारंटी नहीं 

दोनों दोस्त के बाद नहीं होगा करो ना ऐसी गारंटी नहीं

रोज लगने के बाद भी स्वयं का रखना होगा ध्यान




देहरादून !!

पूरे देश में जहां कोरोना की दूसरी लहर ने हाहाकार मचाया वही पहली लहर यानी पिछले साल 2020 में संक्रमण से ज्यादा प्रभावित नहीं रहने वाले राज्य उत्तराखंड में भी इस बार कोरोना संक्रमण काफी तेजी से इस पहाड़ी राज्य में भी फैला।

दूसरी लहर के दौरान राज्य में लगभग 2400 पुलिसकर्मी कोविड संक्रमित पाए गए, जिनमें से 93 फीसदी ऐसे कर्मचारी थे, जिन्हें वैक्सीन के दोनों टीके लगाए जा चुके थे। इस बारे में जो आधिकारिक डेटा साझा किया गया है, उसके मुताबिक इन पुलिसकर्मियों में से पांच की मौत भी हुई। जबकि गौर करने की बात यह है कि, इन पांच में दो पहले से गंभीर रोगों से ग्रस्त थे और बाकी तीन को आंकड़ो में वैक्सीन न लगना बताया गया है।

बीते मंगलवार को जो आधिकारिक डेटा सामने आया, उसके मुताबिक राज्य में उन 2382 पुलिसकर्मियों को अप्रैल और मई 2021 के महीनों के बीच संक्रमित पाया गया, जो ड्यूटी कर रहे थे. इनमें से 2204 रिकवर कर चुके हैं और पांच ने दम तोड़ा। इतनी बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों के संक्रमित होने पर राज्य पुलिस के डीजीपी के प्रवक्ता नीलेश आनंद ने कहा कि, इतने संक्रमणों के बावजूद भी गंभीर मामले और मृत्यु होना आफ कम देखा गया। उन्होंने यह भी कहा कि, ध्यान रखना चाहिए कि वैक्सीन निर्माताओं तक ने यह गारंटी नहीं दी है कि वैक्सीन लगने के बाद संक्रमण नहीं हो सकता।
 
 मरने वाले जवानों की कुंभ में थी तैनाती !

जिन पुलिसकर्मियों की संक्रमण से मौत हुई, उनमें से कुछ हरिद्वार के कुंभ मेले में ड्यूटी पर तैनात किए गए थे। हालांकि उनकी मौत का धार्मिक आयोजन से कोई लेना देना नहीं माना जा सकता।  एक फैक्ट यह भी है कि 2000 से ज़्यादा संक्रमित पुलिसकर्मियों के परिवारों से कुल 751 संक्रमित लोग पाए गए, जिनमें से 64 की जान बचाई नहीं जा सकी।

गौरतलब है कि महामारी के पहले दौर में 1982 पुलिकर्मी संक्रमित पाए गए थे, जिनमें से 8 की मौत हुई थी। जारी हुए डेटा को लेकर किए गए एक शोध के अनुसार, पिछले साल से अब तक राज्य में कुल 4364 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं और 13 की मौत हुई है।

Share: