khabar7 logo
chikitsa

कोरोना से ठीक हुए बच्‍चे की स्किन पर दिख रहे ऐसे लक्षण, नहीं करें नजरअंदाज !!

by Khabar7 - 07-Jun-2021 | 16:37:55
कोरोना से ठीक हुए बच्‍चे की स्किन पर दिख रहे ऐसे लक्षण, नहीं करें नजरअंदाज !!

07 जून 2021,

नई दिल्ली !!

कोरोना की दूसरी लहर ने बच्‍चों को भी नहीं छोड़ा है। कोविड-19 से रिकवर होने के बाद भी बच्‍चों में मल्‍टी इंफ्लामेट्री सिंड्रोम (एमआईएस-सी) हो रहा है। यह इंफ्लामेट्री कंडीशन कवास्‍की सिंड्रोम की तरह होता है जो कि कोरोना से ग्रस्‍त मरीजों में गंभीर परेशानियां पैदा कर रहा है। कोरोना से रिकवर होने के बाद इन परेशानियों को ठीक होने में 6 महीने तक का समय लग सकता है।

एमआईएस-सी के अधिकतर संकेत सूजन से जुड़े हैं और इसका ट्रीटमेंट करवाना जरूरी है। इस कंडीशन पर हुई रिसर्च की रिपोर्ट के मुताबिक एमआईएस-सी के शुरुआती संकेत सबसे पहले स्किन पर देखे जाते हैं।

​क्‍या कहती है स्‍टडी ?

डॉक्टरों का कहना है कि एमआईएस-सी के अधिकतर मामले कोरोना के बाद हुए हैं। जब इम्‍यून सिस्‍टम कोरोना इंफेक्शन से लड़ रहा था और पूरे शरीर में सूजन फैल गई, तब यह स्थिति पैदा हुई। ये सूजन संबंधी संकेत बुखार, सिरदर्द, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल परेशानी के रूप में सामने आ सकते हैं या अधिकतर मामलों में स्किन पर दिख सकते हैं।

इस जानकारी से कई लोग यही मान रहे हैं कि स्किन पर असामान्‍य रिएक्‍शन एमआईएस-सी का शुरुआती संकेत हो सकता है। JAMA डर्माटोलॉजी में प्रकाशित एक नए अध्‍ययन के मुताबिक बच्‍चों में एमआईएस-सी के शुरुआती संकेतों को स्किन पर मौजूद म्‍यूकस मेंब्रेन के जरिए पता लगाए जा सकते हैं।
 
​जानें एक्‍सपर्ट की राय -

एमआईएस-सी से ग्रस्‍त अस्‍पताल में भर्ती 35 बच्‍चों के लक्षणों को देखने के बाद शोधकर्ताओं ने यह परिणाम निकाला है। देखा गया कि इनमें से 83 पर्सेंट मरीजों की स्किन पर म्‍यूकोसल लक्षण थे जिनमें रैशेज, सूजन, लालिमा शामिल थी। ये सभी लक्षण एमआईएस-सी के शुरुआती हफ्तों में सामने आए थे।

अब शोधकर्ता पेरेंट्स और डॉक्टरों को चेतावनी दी है कि कई कारणों की वजह से बच्‍चों में स्किन से जुड़े लक्षण, एलर्जी और इंफेक्‍शन देखे जा सकते हैं जिनका संबंध कोरोना से हो सकता है। इसलिए इन्‍हें इग्‍नोर करने की बजाय बारीकी से इन्‍हें मॉनिटर करें। स्किन से जुड़े ये लक्षण हल्‍के या मीडियम हो सकते हैा लेकिन इन्‍हें तुरंत मॉनिटर करने और केयर की जरूरत होती है। कुछ मामलों में बिना किसी इलाज के भी लक्षण ठीक हो सकते हैं।
 
​स्किन पर कैसे लक्षण दिखेंगे ?

इस कंडीशन से जुड़े डाटा से पता चला है कि एमआईएस-सी के अधिकतर मामले 5 से 14 साल के बच्‍चों में देखे गए हैं।

एमआईएस-सी एक गंभीर स्थिति है और अधिकतर बच्‍चे मेडिकल ट्रीटमेंट से ठीक हो रहे हैं लेकिन इसके शुरुआती संकेतों को समय पर पहचान कर स्थिति को ज्‍यादा खराब होने से बचाया जा सकता है। समय पर निदान और इलाज से इस बीमारी को जल्‍दी ठीक किया जा सकता है।

एमआईएस-सी के स्किन पर दिखने वाले कुछ संकेत हैं यहां पर बता रहे हैं। इनकी आप जल्‍दी पहचान कर लें....!

होंठ फटना
हाथों और पैरों में सूजन
शरीर पर रैशेज
कंजक्टिवाइटिस और लालिमा
हाथों या पैरों के आसपास का रंग उड़ना
जीभ का रंग स्‍ट्रॉबेरी जैसा होना

स्किन के अलावा एमआईएस-सी के लक्षणों में तेज बुखार, आंखों में लालिमा, हर वक्‍त थकान, चिड़चिड़ापन, पेट में दर्द, उलझन में रहना, सांस लेने में दिक्‍कत और छाती में दर्द, पेशाब कब आना शामिल है।

Share: