khabar7 logo
business

वित्त मंत्री का दावा- वित्‍त वर्ष में दोहरे अंक के करीब रहेगी भारत की GDP ग्रोथ !!

by Khabar7 - 13-Oct-2021 | 17:28:47
वित्त मंत्री का दावा- वित्‍त वर्ष में दोहरे अंक के करीब रहेगी भारत की GDP ग्रोथ !!

13 अक्टूबर 2021,

हाईलाइट्स -

भारत तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्‍यवस्‍थाओं में एक !

अगले दशक तक कायम रहेगी आर्थिक वृद्धि दर !

20.1% रही है पहली तिमाही की वास्‍तविक GDP ग्रोथ !

नई दिल्‍ली !!

केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतामरण का कहना है कि भारत तेजी से बढ़ने वाली अर्थव्‍यवस्‍थाओं में एक है. देश मौजूदा वित्‍त वर्ष के दौरान दोहरे अंक के करीब GDP बढ़ोतरी की दिशा में बढ़ रहा है. उन्‍होंने कहा कि वित्‍त वर्ष 2022 में देश की आर्थिक वृद्धि 7.5 फीसदी से लेकर 8.5 फीसदी के दायरे में रहेगी. उन्‍होंने जोर देकर कहा कि ये आर्थिक वृद्धि दर अगले दशक तक कायम रहेगी|

वित्‍त मंत्री सीतारमण ने हार्वर्ड केनेडी स्‍कूल में संवाद के दौरान कहा कि इस साल हम भारत की आर्थिक वृद्धि दर दोहरे अंकों के आसपास देख रहे हैं, जो दुनिया के किसी भी देश के मुकाबले सबसे ज्‍यादा होगी. वहीं, इस साल के आधार पर अगले वित्‍त वर्ष में जीडीपी ग्रोथ 8 फीसदी के दायरे में रहेगी. उन्‍होंने कहा कि अभी तक वित्‍त मंत्रालय ने आर्थिक वृद्धि के आंकड़ों को लेकर कोई आकलन नहीं किया है. फिर भी विश्‍व बैंक समेत अंतरराष्‍ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) और कई रेटिंग एजेंसियों के आकलन के मुताबिक भारत वित्‍त वर्ष 2022 में दोहरे अंक में वृद्धि हासिल करेगा|

उभरती हुई अर्थव्‍यवस्‍थाएं ग्‍लोबल इकोनॉमी को देंगी मजबूती !

केंद्रीय मंत्री सीतारमण ने कहा कि भारत के प्रमुख उद्योगों में जारी विस्‍तार की मौजूदा दर को देखें तो आर्थिक वृद्धि दर अगले एक दशक तक 7.5 फीसदी से 8.5 फीसदी के दायरे में रहेगी, जिसके कम होने की कोई स्‍पष्‍ट वजह नजर नहीं आ रही है. वहीं, ग्‍लोबल इकोनॉमी को लेकर उन्‍होंने कहा कि पूरी दुनिया के लिए कोई एक मानक नहीं हो सकता है. उभरते हुए बाजारों वाली अर्थव्‍यवस्‍थाओं में तेजी से सुधार हो रहा है. इनके लगातार तेजी दर्ज करने की उम्‍मीद नजर आ रही है. इनमें इतनी सामर्थ्‍य नजर आ रही है कि ये ग्‍लोबल इकोनॉमी को भी अपने साथ आगे की ओर ले जाएंगी|
 
औद्योगिक संगठन पीएचडीसीसीआई ने इस बीच कहा है कि वित्‍त वर्ष 2021-22 के दौरान भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था 10.25 फीसदी जीडीपी ग्रोथ हासिल कर सकती है. पीएचडी चैंबर का कहना है कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया व सरकारी की प्रभावी नीतियों और कारोबारी धारणा में सुधार की वजह से ऐसा होगा. वहीं, रिजर्व बैंक ने पिछले सप्‍ताह मौजूदा वित्‍त वर्ष के लिए आर्थिक वृद्धि के अनुमान को 9.5 फीसदी पर बरकरार रखा है. राष्‍ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने 31 अगस्‍त को कहा था कि वित्‍त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में देश की वास्‍तविक जीडीपी ग्रोथ 20.1 फीसदी रही है. आरबीआई ने अगले वित्‍त वर्ष की पहली तिमाही में 17.2 फीसदी की जीडीपी ग्रोथ का अनुमान जताया है|

Share: