khabar7 logo
jammu-kashmir

J&K : टेरर फंडिंग केस में NIA का सबसे बड़ा ऑपरेशन, 14 जिलों के 50 ठिकानों पर छापेमारी !!

by Khabar7 - 08-Aug-2021 | 12:02:47
J&K : टेरर फंडिंग केस में NIA का सबसे बड़ा ऑपरेशन, 14 जिलों के 50 ठिकानों पर छापेमारी !!

08 अगस्त 2021,

हाईलाइट्स -

जम्मू कश्मीर में आतंकवाद पर कस रहा शिकंजा !

कभी NIA, तो कभी CBI कर रही छापेमारी !

अलग-अलग मामलों में हो रही रेड !

श्रीनगर !!

टेरर फंडिग मामले में जम्मू कश्मीर में NIA लगातार छापेमारी कर रही है. अब तक 14 जिलों के 50 जगहों पर छापा पड़ चुका है. किश्तवाड़, राजौरी व अन्य कई जगहों पर अभी तक छापेमारी हुई है. हालांकि, अभी अधिकारी मामले की जानकारी साझा करने पर चुप्पी साधे हुए हैं. एक सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार, आतंकवाद रोधी जांच एजेंसी प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात-ए-इस्लामी के वरिष्ठ सदस्यों से जुड़े परिसरों की तलाशी ले रही है. इस बीच NIA ने दो अलग-अलग मामलों में अलग-अलग जगहों पर तलाशी ली है और कुछ लोगों को गिरफ्तार भी किया है. फिलहाल कार्यवाही अभी जारी है|
 
NIA ने हाल ही में रजिस्टर हुए जमात-ए-इस्लामी मामले में भी कई जगहों पर छापेमारी की है. जमात संगठन के कई सदस्यों के घरों पर भी छापेमारी की गई. जिसमें जमात-ए-इस्लामी के पूर्व प्रमुख का आवास भी शामिल है. ये छापेमारी गांदरबल, शोपियां व अनंतनाग में एक साथ हो रही है|

CBI ने बंदूकों के नकली लाइसेंस मामले में की थी छापेमारी !

हाल ही में जम्मू- कश्मीर में CBI ने कई जगहों पर छापेमारी करके करोड़ों की बंदूकों के नकली लाइसेंस के स्कैम को उजागर किया था. CBI द्वारा श्रीनगर के पूर्व डीसी व आईएएस अधिकारी साहिद इकबाल चौधरी के आवास पर भी छापेमारी की गई थी. यह मामला (CBI) को 2018 में सौंपा गया था, जिसमें दो लाख से अधिक बंदूकों के नकली लाइसेंस को जम्मू कश्मीर से राजस्थान के लिए बैक डेट में जारी किया गया था. यह सारा कारनामा लगभग 15 सालों (2007 से शूरूआत) में किया गया था. इस स्कैम में कई आईएएस अधिकारी व केएएस अधिकारी शामिल पाए गए थे. (CBI) और आगे की तहकीकात अभी कर रही है. हालांकि भारत ने इस मामले में साफ किया है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक और अभिन्न अंग है, इसलिए जम्मू कश्मीर से जुड़ा कोई भी मुद्दा भारत का आंतरिक मामला है और इसे भारत खुद हल कर सकता है|

Share: