khabar7 logo
haryana-punjab

क्या चन्नी से भी कांग्रेस काटेगी कन्नी ? हरीश रावत के बयान से मिल रहे संकेत !!

by Khabar7 - 12-Oct-2021 | 15:16:55
क्या चन्नी से भी कांग्रेस काटेगी कन्नी ? हरीश रावत के बयान से मिल रहे संकेत !!

12 अक्टूबर 2021,

हाईलाइट्स -

चुनाव के बाद तय होगा मुख्यमंत्री !

चन्नी और सिद्धू के बीच कोई मनमुटाव नहीं : रावत !

चन्नी और सिद्धू दोनों हर चीज पर सहयोग करेंगे : रावत !

चंडीगढ़ !!

पंजाब के प्रभारी कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने सोमवार को यह कहकर हलचल मचा दी कि चुनाव के बाद CM कौन होगा, ये फैसला कांग्रेस अध्यक्ष तय करेंगे। हरीश रावत के इस बयान से संदेह पाद होने लगा है कि मौजूदा मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को कांग्रेस पार्टी चुनाव के बाद सीएम बनाए रखती है या नहीं। हालांकि हरीश रावत ने ये जरूर कहा कि चन्नी और पंजाब प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच कोई मनमुटाव नहीं है और दोनों 2022 का चुनाव जीतने के लिए मिलकर काम करेंगे।

हरीश रावत ने मीडिया से बातचीत में कहा, ''CM चरणजीत सिंह चन्नी और नवजोत सिंह सिद्धू दोनों हर चीज पर सहयोग करेंगे। वे अगला चुनाव जीतने के लिए मिलकर काम करेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष तब तय करेंगे कि अगला CM कौन होगा।" रावत ने ये सभी बातें नई दिल्ली में बीजेपी नेता और उत्तराखंड कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के कांग्रेस में शामिल होने के दौरान कही।

PCC प्रमुख के रूप में सिद्धू के इस्तीफे के बारे में पूछे जाने पर हरीश रावत ने चुटकी ली। कहा- "क्या.. इस्तीफा? हमने कोई इस्तीफा नहीं देखा है। हमने इसके बारे में सिर्फ अखबारों में पढ़ा है।" बता दें कि सिद्धू ने 28 सितंबर को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा ट्विटर पर पोस्ट किया था।

पंजाब में समिति बनाने का कोई प्रस्ताव नहीं !

रावत ने सोमवार को स्पष्ट रूप से संकेत दिया कि इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था। मुख्यमंत्री और सिद्धू के बीच तनाव पर उन्होंने कहा कि जो भी मुद्दे हैं, उन्हें सीएम और सिद्धू द्वारा पार्टी के भीतर हल किया जाएगा। उन्होंने सीएम के बारे में सिद्धू की हालिया सार्वजनिक प्रतिक्रियाओं को भी कमतर आंका और कहा कि पार्टी और सरकार के समन्वय के लिए पंजाब में कोई समिति बनाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है।

रावत ने सोमवार को स्पष्ट रूप से संकेत दिया कि इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया था। मुख्यमंत्री और सिद्धू के बीच तनाव पर उन्होंने कहा कि जो भी मुद्दे हैं, उन्हें सीएम और सिद्धू द्वारा पार्टी के भीतर हल किया जाएगा। उन्होंने सीएम के बारे में सिद्धू की हालिया सार्वजनिक प्रतिक्रियाओं को भी कमतर आंका और कहा कि पार्टी और सरकार के समन्वय के लिए पंजाब में कोई समिति बनाने का फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं है।

Share: