khabar7 logo
delhi-ncr

मौसम ने ली करवट, आने वाले दिनों में कोहरे और गलन का होगा अहसास !!

by Khabar7 - 24-Nov-2021 | 11:54:44
मौसम ने ली करवट, आने वाले दिनों में कोहरे और गलन का होगा अहसास !!

24 नवंबर 2021,

हाईलाइट्स -

बीते 24 घंटों में तापमान में आधे डिग्री की गिरावट !

आने वाले दिनों में पारा 10 डिग्री के भी नीचे जाएगा !

27.6 डिग्री रहने वाला है दिन का तापमान !

नई दिल्ली !!

मौसम के रुख में बदलाव देखने को मिल रहा है, लगातार तापमान में भारी गिरावट जारी है. बीते 24 घंटों में तापमान में आधे डिग्री की गिरावट दर्ज की गई है. इस कारण ठंड अब धीरे-धीरे गलन में बदलती जा रही है. मौसम विज्ञानी के अनुसार आने वाले दिनों में मौसम का रुख पूरी तरह से बदल जाएगा और पारा दस डिग्री के भी नीचे चला जाएगा. मौसम के बदलते रुख में अब गलन के साथ कोहरा और ओस भी देखने को मिलेगी. इसके साथ ही अगले चार दिनों में कोहरा और ओस का असर भी बढ़ जाएगा. दिन में धूप का असर भी दोपहर के बाद कम होता जा रहा है|

उत्तर प्रदेश में मौसम काफी सर्द बना रहेगा. ठंडी हवाएं चलने के कारण आने वाले दिनों में पारा और गिरने की संभावना है. मौसम विभाग शुष्क बना रहेगा. हालांकि दो दिन पहले हुई बारिश के बाद अब बादल छंट गए हैं और प्रदेश के अधिकतर शहरों में सुबह-सुबह कोहरा या धुंध के बाद दिन में मौसम साफ हो जाएगा. प्रदेश की राजधानी लखनऊ में सर्दी बढ़ गइ है. रात का पारा 10.7 डिग्री तक लुढ़का. अभी यह पारा और​ गिरेगा, दिन का तापमान 27.6 डिग्री रहने वाला है|
 
बुधवार की सुबह तापमान में कमी देखने को मिली, इस दौरान ठंडी हवाएं चल रही थीं. मौसम विज्ञानिकों की मानें तो आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदलेगा और रात में कोहरे की चादर नजर आएगी. वहीं गलन का असर व्‍यापक रूप से दिखाई देने वाला है. जबकि पहाड़ों पर पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता लगातार बनी हुई है. पहाड़ों में बर्फबारी के कारण मैदानी इलाकों  में इसका असर इस सप्ताह दिखाई देगा|

बीते 24 घंटों में अधिकतम तापमान 28.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज करा गया है। यह सामान्‍य से एक डिग्री अधिक है. वहीं न्यूनतम तापमान 10.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज करा गया है. ये सामान्‍य से तीन डिग्री कम रहा.  आर्द्रता अधिकतम 78 फीसद और न्‍यूनतम 54 फीसद दर्ज हुई. मौसम विभाग की ओर जारी तस्वीरों में पूर्वांचल के आसमान में मौसम साफ बना हुआ है. जबकि दक्षिण भारत में बादलों की सक्रियाता बढ़ी है. पहाड़ों में बर्फबारी का असर मैदानी इलाकों में देखा जा रहा है|

Share: