khabar7 logo
delhi-ncr

कोरोना : दक्षिणी दिल्ली में सबसे अधिक 8383 कंटेनमेंट जोन घोषित !!

by Khabar7 - 14-Jan-2022 | 12:20:51
कोरोना : दक्षिणी दिल्ली में सबसे अधिक 8383 कंटेनमेंट जोन घोषित !!

14 जनवरी 2022,

हाईलाइट्स - 

दिल्ली में लगातार बढ़ती जा रही कोरोना मामलों की संख्या !

करीब 24 हजार इलाके पूरी तरह से कंटेनमेंट जोन के दायरे में !

दिल्ली में माइक्रोन वाले हैं ज्यादातर कंटेनमेंट जोन !

नई दिल्ली !!

दिल्ली में कोविड मामलों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. तेजी से बढ़ते केसों के बीच अब कंटेनमेंट जोन की संख्या भी काफी तेजी से बढ़ रही है. फिलहाल करीब 24 हजार इलाके पूरी तरह से कंटेनमेंट जोन के दायरे में आ चुके हैं. दिल्ली में बढ़ते कोविड मामलों के बीच पिछले एक पखवाड़े के भीतर ही कंटेनमेंट जोन की संख्या 1,000 से कम होकर लगभग 24,000 हो गई है. 30 दिसंबर, 2020 को दिल्ली में 800 कंटेनमेंट जोन थे. ताजा आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, जनवरी के मध्य तक यह संख्या बढ़कर 23,997 तक पहुंच गई है. दक्षिणी दिल्ली में सबसे अधिक 8383 कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं. उसके बाद पश्चिमी दिल्ली में 4,109, मध्य दिल्ली में 3,493 और नई दिल्ली में 2,354 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं. सबसे कम पूर्वी दिल्ली में 151, उत्तर पूर्वी दिल्ली में 279, उत्तर पश्चिम में 547 और दक्षिण पश्चिम दिल्ली में 851 कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं|

एक आवासीय क्षेत्र या एक अपार्टमेंट को आमतौर पर उस समय कंटेनमेंट जोन घोषित किया जाता है जब तीन कोरोना वायरस संक्रमित लोग वहां पाए जाते हैं.  हालांकि, जिला अधिकारियों के पास आवासीय क्षेत्र को एक कंटेनमेंट जोन घोषित करने की स्वेच्छा पर शक्तियां प्राप्त हैं, यदि यहां एक भी व्यक्ति संक्रमित पाया जाता है. दिल्ली में ज्यादातर कंटेनमेंट जोन माइक्रोन वाले हैं जिनमें तीन से कम मरीज हैं. फिलहाल हल्के लक्षणों वाले या बिना किसी लक्षण वाले संक्रमित व्यक्ति को सात दिन के होम आइसोलेशन से गुजरना पड़ता है| 

दिल्ली में एक दिन में 28,867 केस दर्ज !

अधिकारियों ने कहा है कि COIVD के बढ़ते केसों के बीच दिल्ली सरकार ने LNJP, GTB अस्पतालों में नियमित और वैकल्पिक सर्जरी को स्थगित कर दिया है. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में गुरुवार को 28,867 कोविड​​​​-19 मामले दर्ज किए, जो महामारी शुरू होने के बाद से सबसे अधिक एक दिन में इतने केस दर्ज किए गए, जबकि 31 मौतें हुईं. वहीं पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 29.21 प्रतिशत हो गई है. दिल्ली का पिछला सबसे बड़ा एक दिन में मिले केस 28,395 था जो पिछले साल 20 अप्रैल को दर्ज किया गया था|

Share: