khabar7 logo
crime

दिल्ली : सिंघु बॉर्डर पर किसान मंच के पास मिला शव, हाथ काटकर बैरिकेड से लटकाया !!

by Khabar7 - 15-Oct-2021 | 11:21:27
दिल्ली : सिंघु बॉर्डर पर किसान मंच के पास मिला शव, हाथ काटकर बैरिकेड से लटकाया !!

15 अक्टूबर 2021,

हाईलाइट्स -

सिंघु बॉर्डर पर शख्स की हत्या !

निहंग सिखों पर लगा है आरोप !

SKM ने बुलाई आपातकालीन बैठक !

नई दिल्ली !!

सिंघु बॉर्डर पर जहां किसानों का प्रदर्शन हो रहा है वहां शुक्रवार सुबह एक शव मिलने से हंगामा मच गया. किसानों के प्रदर्शन स्थल के पास शख्स को जिस बेदर्दी से मारा गया था, उसने सबके रोंगटे खड़े कर दिए. अब संयुक्त किसान मोर्चा ने दावा किया है कि इस हत्या के पीछे निहंग सिख हैं. उन्होंने ही उस शख्स का हाथ काटा और जान ली. फिलहाल पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की है|

दूसरी तरफ संयुक्त किसान मोर्चा ने खुद को निहंग सिखों से अलग कर लिया है और कहा कि वह जांच में पुलिस का पूरा सहयोग देंगे. इसके अलावा सुबह एक आपातकालीन मीटिंग भी बुलाई गई है, जिसमें इस घटना पर बात होगी. मीटिंग में संयुक्त किसान मोर्चा की कॉर्डिनेशन कमेटी के सात सदस्य शामिल होंगे|

निहंगों पर हत्या का आरोप !

सिंघु बॉर्डर पर शख्स की हत्या करने का आरोप निहंग सिखों पर लगा है. संयुक्त किसान मोर्चा ने भी उनपर ही आरोप लगाए हैं. इसपर किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल का बयान भी आया है|
 
बता दें कि उस शख्स का हाथ काटकर शव को बैरिकेड से लटकाया गया था. आंदोलनकारी शुरुआत में पुलिस को भी मुख्य मंच के पास नहीं जाने दे रहे थे. हालांकि, बाद में कुंडली थाना पुलिस ने शव को उतारा और सिविल हॉस्पिटल लेकर पहुंची. 35 साल के उस शख्स के शरीर पर धारदार हथियार से हमले के निशान मिले हैं. जिस युवक को मारा गया है उसका हाथ कलाई से काट दिया गया है|

अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज !

घटना पर पुलिस का भी बयान आया है. उन्होंने कहा कि अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. डीसीपी हंसराज ने कहा, 'कुंडली, सोनीपत बॉर्डर पर जहां किसानों का प्रदर्शन चल रहा है. वहां सुबह पांच बजे एक शव लटका मिला. उसके हाथ और टांग कटी हुई थी. हत्या किसने की यह फिलहाल साफ नहीं है. अज्ञात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है. एक वीडियो भी वायरल है, जिसकी जांच हो रही है'|

भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने सिंघु बॉर्डर की घटना पर राकेश टिकैत पर निशाना साधा है. उन्होंने लिखा, 'राकेश टिकैत ने योगेंद्र यादव के साथ लखीमपुर में हुई मॉब लिंचिंग को जायज ठहराया था. कुंडली बॉर्डर पर हुई हत्या पर वह चुप हैं. किसानों के नाम पर आंदोलन में हो रही अराजकता का पर्दाफाश होना चाहिए'|

Share: