khabar7 logo
chattisgarh

छत्तीसगढ़ : नायारणपुर में ITBP के जवानों पर नक्सली हमला, दो अधिकारी शहीद !!

by Khabar7 - 20-Aug-2021 | 17:03:53
छत्तीसगढ़ : नायारणपुर में ITBP के जवानों पर नक्सली हमला, दो अधिकारी शहीद !!

20 अगस्त 2021,

हाईलाइट्स -

सुरक्षाबल के जवानों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ !

मुठभेड़ में ITBP के दो अधिकारी शहीद !

सर्चिंग पर निकले थे ITBP के जवान !

नारायणपुर !!

छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में सुरक्षाबल के जवानों के साथ नक्सलियों की मुठभेड़ हुई है. नारायणपुर के कड़ेनार और करियामेटा के बीच ग्राम बेचा के पास (ITBP) के जवानों पर नक्सलियों ने हमला किया. मुठभेड़ में ITBP के दो अधिकारी शहीद हो गए हैं. हमले से एक एएस आई और असिस्टेंड कमांडेंट शहीद हुए. IG Bastar पी सुंदरराज ने इसकी पुष्टी की है. जानकारी के मुताबिक, नक्सलियों ने एम्बुश लगाकर सर्चिंग पर निकले जवानों पर फायरिंग की. नारायणपुर के कडेमेटा ITBP कैंप से 600 मीटर की दूरी एंबुश लगाकर बैठे नक्सलियों ने जवानों पर हमला कर दिया|

हमले के बाद जवानों से एक AK47 रायफल, दो बुलेटप्रूफ जैकेट और वाकी टॉकी भी नक्सली लूट ले गए. ITBP के 45वीं बटालियन के जवान सर्चिंग पर निकले थे. इसी दौरान घात लगाए नक्सलियों ने फायरिंग शुरू कर दी. बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने ये जानकारी दी है|

घात लगाकर नक्सलियों ने किया हमला !
 
छत्तीसगढ़ के नारायणपुर नक्सल हमले में ITBP के दो जवान शहीद हो गए हैं. करेमेटा कैंप से कुछ दूरी पर नक्सलियों ने घात लगाकर फायरिंग की. शुक्रवार को एरिया डोमिनेशन के लिए जवान नकले थे. इसी दौरान नक्सलियों ने हमला किया. मौके पर कवर देने के लिए फोर्स पहुंच रही है|

हमले में शहीद जवानों के नाम -

1. सुधाकर सिंदे. सहायक सेनानी जिला नांदेड़, महाराष्ट्र
2. गुरुमुख सिंह सहायक उप निरीक्षक. रायकोट पंजाब

दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने किया था IED ब्लास्ट !

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में नक्‍सलियों की ओर से लगाए गए IED की चपेट में एक यात्री वाहन आ गया. इसमें जानमाल का नुकसान हुआ. छत्‍तीसगढ़ के कई इलाकों में नक्‍सलियों की काफी सक्रियता है और माओवादी समय-समय पर इसका आभास कराने की भी कोशिश करते रहते हैं. हालांकि, कुछ वर्षों में सुरक्षाबलों ने कई राज्‍यों में नक्‍सली गतिविधियों को प्रभावी तरीके से निष्क्रिय करने में सफलता पाई है. खासकर बिहार में इसका व्‍यापक असर देखने को मिला है. यही वजह है कि जून में गृह मंत्रालय ने प्रदेश के नक्‍सल प्रभावित 16 जिलों में से 6 को रेड कॉरिडोर से बाहर निकालने की घोषणा की थी. इस तरह बिहार में अब 10 जिले ही नक्‍सल प्रभावित क्षेत्र में आते हैं|

Share: