khabar7 logo
uttar-pradesh

यूपी चुनाव : सपा और RLD में गठबंधन तय, 36 सीटों पर चुनाव लड़ेगी RLD !!

by Khabar7 - 24-Nov-2021 | 11:00:55
यूपी चुनाव : सपा और RLD में गठबंधन तय, 36 सीटों पर चुनाव लड़ेगी RLD !!

24 नवंबर 2021,

हाईलाइट्स -

सपा और RLD में सीटों को लेकर बनी सहमति !

36 सीटों पर चुनाव लड़ेगी RLD !

जल्द हो सकता है SP-RLD गठबंधन को लेकर ऐलान !

लखनऊ !!

उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल के बीच गठबंधन को लेकर सहमति बन चुकी है. जल्द ही गठबंधन को ऐलान किया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि RLD और सपा के बीच सीटों को बंटवारे को लेकर सहमति बन चुकी है. जानकारी के मुताबिक अखिलेश यादव RLD को 36 सीटें देने के लिए राजी हो गए हैं. इनमें 30 सीटों पर RLD के प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे जबकि 6 सीटों पर RLD के निशान पर सपा के उम्मीदवार चुनाव लड़ेंगे. RLD प्रमुख जयंत चौधरी ने सपा से 45 सीटें मांगी थी जिनमें 36 सीटों पर सहमति बन गई है|

यूपी चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी (सपा) और राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के बीच गठबंधन का आधिकारिक ऐलान होना अभी बाकी है. RLD चीफ चौधरी जयंत सिंह ने पहले भी ये साफ किया था कि सपा के साथ गठबंधन कर वे चुनाव मैदान में उतरेंगे. अब RLD चीफ जयंत ने मंगलवार को लखनऊ पहुंचकर सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के साथ मुलाकात की है. जयंत और अखिलेश की मुलाकात खत्म हो चुकी है. सूत्रों के मुताबिक सपा और RLD में सीटों को लेकर सहमति बन गई है. RLD 36 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. RLD 50 सीटें मांग रही थी जबकि सपा 30 से 32 सीटें देने को तैयार थी. सूत्रों की मानें तो जयंत और अखिलेश के बीच एक और दौर की बातचीत होगी. इसके बाद दोनों नेता प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गठबंधन का ऐलान कर सकते हैं|
 
RLD चीफ जयंत और अखिलेश की मुलाकात सपा सुप्रीमो के घर पर हुई. इस मुलाकात की तस्वीर ट्वीट करते हुए जयंत ने लिखा है- बढ़ते कदम. सपा सुप्रीमो से मुलाकात के बाद जयंत दिल्ली लौट गए हैं. सूत्रों के मुताबिक जयंत ने डिप्टी सीएम का पद RLD को दिए जाने की मांग अखिलेश के सामने रखी है|

सूत्रों का कहना है कि सपा के करीब आधा दर्जन नेता RLD के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. गौरतलब है कि RLD और सपा के बीच सीटों को लेकर खींचतान चल रही थी. दोनों दलों के बीच दो दौर की बातचीत के बाद भी सीट बंटवारे को लेकर सहमति नहीं बन सकी थी. कई सीटें ऐसी थीं जिन्हें लेकर दोनों ही दलों की ओर से दावा किया जा रहा था. इस खींचतान के कारण गठबंधन के आधिकारिक ऐलान में भी देर हो रही थी. अब जयंत ने ट्वीट कर ये संकेत दे दिए हैं कि दोनों दलों के बीच बातचीत की गाड़ी सकारात्मक तरीके से आगे बढ़ी है|

Share: